विदेशी सैलानियों के मन भाये सिंघाड़े, बहरावंडा खुर्द से

बहरावंडा खुर्द. सर्दी की लुभावनी धूप  मगरमच्छ और घड़ियालों को ही नही बल्कि विदेशी पर्यटकों को भी  चम्बल घड़ियाल अभ्यारण्य की ओर आकर्षित कर रही है | ऐसे में चम्बल अभ्यारण्य में जलयानों की सैर और  घडियालों की चहलकदमी से चम्बल का  पाली क्षेत्र धीरे धीरे पर्यटन हब का रूप लेने लगा है |

ऐसे में बहरावंडा खुर्द सहित क्षेत्र में भी रोजगार में वृद्धि होने लगी है , ऐसा ही नजारा रविवार को बहरावंडा खुर्द में देखने को मिला , विदेशी सैलानियों को सिंघाड़े और अमरुद काफी पसंद आये | जहाँ सैलानियों को भी ग्रामीण क्षेत्र का नजारा अच्छा लगा वही दुकान दार भी विदेशी मेहमानों के खरीददारी से खुश नजर आए |

पर्यटन विभाग ध्यान दे तो बन सकता है पर्यटन हब

रणथम्भोर अभ्यारण्य के साथ ही क्षेत्र के चम्बल घड़ियाल पर भी पर्यटन विभाग समुचित प्रयास करे तो विभाग की आय भी वृद्धि होगी ओर  क्षेत्रीय लोगों के रोजगार में बढ़ोतरी होगी , जिससे एक ही स्थान पर दो पर्यटक स्थल होने पर्यटकों की संख्या में भी वृद्धि होगी